संयुक्त मोर्चा ने जल निगम जल संस्थान पर किया धरना प्रदर्शन

सौरभ कुमार शर्मा

जल निगम जल संस्थान, संयुक्त मोर्चे का धरना कार्यालय अधिशासी अभियन्ता, निर्माण शाखा, उत्तराखण्ड पेयजल निगम, हरिद्वार में किया गया। धरना प्रदर्शन कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री रघुवीर सिंह रावत, जनपद संयोजक द्वारा तथा संचालन श्री गोविन्द प्रसाद गैरोला द्वारा किया गया।

शहरी विकास विभाग के अन्तर्गत संचालित पेयजल एवं सीवरेज कार्यों का निर्माण कार्य उत्तराखण्ड पेयजल निगम से न कराकर UUSDA द्वारा कराया जा रहा है और उसका संचालन कार्य भविष्य में उत्तराखण्ड जल संस्थान द्वारा न कराकर UUSDA द्वारा स्वयं अपने हाथो मे लिया जा रहा है उक्त कार्यवाही उत्तरप्रदेश जलापूर्ति एवं सम्भरण अधिनियम 1975 का स्पष्ट उल्लघन है। शहरी विकास विभाग द्वारा निर्माण / संचालन विशेषज्ञ विभाग उत्तराखण्ड पेयजल निगम व उत्तराखण्ड जल संस्थान को खत्म करने की साजिस लगातार की जा रही है।

आज के धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में इं० मोहित जैन, वाइस चैयरमेन संघर्ष समिति, उत्तराखण्ड डिप्लोमा इंजी० संघ द्वारा कहा गया कि एक ओर एकीकरण / राजकीयकरण शासन स्तर से विलम्ब होने से उत्तराखण्ड पेयजल विभाग के सभी अधिकारियों/कर्मचारियों में निराशा है वहीं शहरी विकास विभाग के अन्तर्गत संचालित संस्था UUSDA के द्वारा मूल अभियांत्रिकी विभागों के कार्यक्षेत्र मे अतिक्रमण किये जाने से सभी कार्मिका अत्याधिक आक्रोश में है, अवगत कराया कि शहरी विकास विभाग के अन्तर्गत संचालित uUSDA से कराये जा रहे कार्यों के निरीक्षण / पर्यवेक्षण हेतु सक्षम व आवश्यक तकनीकी अनुभवयुक्त अभियन्ता तैनात नही है अपितु अन्य विभाग से प्रतिनियुक्ति पर लाये गये अभियन्ता उक्त संस्था में कार्य कर रहे है उक्त संस्था के अन्तर्गत कार्यरत अधिकाशं अभियन्ता उनके द्वारा धारित पद के अनुरूप आवश्यक न्यूनतम तकनीकी अर्हता एवं सीवरेज / पेयजल का अनुभव नही रखते है परिणामत् उक्त संस्था द्वारा कराये जा रहे कार्यों की गुणवत्ता स्तरीय नही पायी गयी जिस कारण निर्माण कार्यों में लापरवाही व तकनीकी अज्ञानता के कारण जहाँ शासकीय धन की बर्बादी हो रही है वही अनियोजित एवं त्रुटिपूर्ण निर्माण कार्यों के कारण आग जनता को हो रही असुविधा के कारण सरकार की छवि भी धूमिल हो रही है।

इं० शीतल सिंह राठौर, अपर सहायक अभियन्ता द्वारा बताया गया कि रूडकी क्षेत्र में ए०डी०बी० द्वारा 10 पैकेज पर कार्य प्रारम्भ करते हुए अपूर्ण छोड़ दिये गये हैं। ए०डी०बी० के पास अनुभवी अभियन्ता भी नहीं है जिससे कार्यों में विलम्ब हो रहा है एवं गुणवत्ता नहीं आ रही है। जिसका अन्य वक्ताओं द्वारा एक मत से शासन / प्रशासन की कुचक्र का विरोध किया गया तथा एक मत में सदन द्वारा प्रस्ताव पारित किया गया कि जब तक शासन द्वारा एकीकरण / राजकीयकरण एवं लम्बित मांगे पूरी नहीं की जाती है तब तक धरना प्रर्दशन जारी रहेगा।

परन्तु शासन द्वारा मांगो पर कोई सकारात्मक कार्यवाही न होने के कारण विवश होकर जल निगम-जल संस्थान संयुक्त मोर्चा जनपद इकाई, हरिद्वार द्वारा दिनांक 25.01.2024 को कार्यालय अधिशासी अभियन्ता, निर्माण शाखा, उत्तराखण्ड पेयजल निगम, हरिद्वार निकट राही मोटल से प्रातः 11:00 बजे सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय के लिये रैली निकाली जायेगी, तथा मा० मुख्यमंत्री जी उत्तराखण्ड सरकार को ज्ञापन जिलाधिकारी/सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से प्रेषित किया जायेगा।

जिसका रूट चार्ट निम्नानुसार है
राही मोटल, हरिद्वार शिवमूर्ति चौक तुलसी चौक अग्रसैन चौक सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय बैठक में जल निगम, जल संस्थान संयुक्त मोर्चा के निम्न अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया :-

अरुण कुशवाहा, अंचित पाराशर, कुमार गौरव, सावित्री देवी, सुदामा प्रसाद, धन सिंह नेगी, शलभ मित्तल, अनुराग शर्मा, मदन सिंह, अनूप भण्डारी, चौ० नरेश पाल, अमित, बैजन्ती, प्रवेश कुमार, सिद्धार्थ कुमार, रशिम, एकता, राजेश नेगी, रघुवीर रावत, शिवांक, सी०एस० कन्डवाल, विष्णु प्रसाद नौटियाल, नीरज, रामपाल, सुरेन्द्र, कमल, सतीश, मनीष, नीरज, तरूण, मयंक, विनोद, संजय, प्रवीण, गगन, पवन, सिद्वार्थ, मेधराज, मुकेश इत्यादि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue Reading