अखाड़ा परिषद अध्यक्ष के खिलाफ कांग्रेस द्वारा तहरीर देने पर संतो में उबाल

हरिद्वार। अवैध मजार हटाने का मामला अब नया ही मोड़ ले रहा है कांग्रेस विधायकों द्वारा जिलाधिकारी के कार्यालय पर हंगामा करने और मजारों को समाधि बताए जाने का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष एवम निरंजनी अखाड़े के श्रीमहंत रविन्द्र पूरी द्वारा विरोध करने पर कांग्रेस कार्यकर्ता द्वारा ज्वालापुर कोतवाली में श्रीमहंत रविन्द्र पूरी के खिलाफ तहरीर दी गई जिससे धर्मनगरी के संतों में कांग्रेस विधायकों और कार्यकर्ताओं के खिलाफ खासा रोष दिखाई दे रहा है। संतो का कहना है कि मजारों को लेकर कोई मुस्लिम संतो का विरोध करता नही दिख रहा है जबकि ये कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने संतो के खिलाफ तहरीर दे रहे है यह निंदनीय है।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्र पूरी पर कांग्रेस द्वारा ज्वालापुर कोतवाली में तहरीर दिए जाने पर धर्मनगरी के संतों एक साथ आ गए है और कांग्रेस के विधायक और कार्यकर्ताओं को संतो के खिलाफ अनर्गल बयानबाजी से बचने की सलाह के साथ 2024 मे ना केवल उत्तराखंड बल्कि पूर्व देश से कांग्रेस को साफ करने की बात कह रहे है। इसी क्रम में महामंडलेश्वर स्वामी रूपेंद्र प्रकाश महाराज ने कहा कि जिस तरह से निरंजनी अखाड़े के सचिव श्री महंत रविंद्रपुरी के खिलाफ कांग्रेस द्वारा ज्वालापुर कोतवाली में तहरीर दी गई है यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है एक राजनीतिक व्यक्ति को ऐसी टिप्पणियों से बचना चाहिए उन्होंने कहा कि कांग्रेसी विधायकों द्वारा जिस तरह से हजारों को समाधि कहा जाना हिंदू समाज के लोगों को भटकाने के लिए कहा गया है। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि ऐसे विधायकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए जो हरिद्वार के माहौल को खराब करना चाहते हैं। ने कहा कि सभी 13 अखाड़े और धर्म नगरी हरिद्वार के सभी संत निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत रविंद्रपुरी के साथ हैं।

वही हिंदू परिषद के फायर ब्रांड नेता साध्वी प्राची ने कहां कि उत्तराखंड में बहुत सी अवैध मजारे हैं जिन पर बुलडोजर चलना अति आवश्यक है और रही बात कांग्रेस की तो वह हमेशा से ही हिंदुओं और संतों के खिलाफ रही है, कांग्रेस की मुसलमानों के तुष्टीकरण की नीति रही है। निरंजनी अखाड़ा के सचिव श्रीमहंत रविंद्र पुरी के खिलाफ तहरीर दिए जाने पर उन्होंने कहा कि सभी संतो को एकजुट होकर कांग्रेस को उत्तराखंड से बाहर खदेड़ना होगा। इसी कड़ी मे शंकराचार्य परिषद के अध्यक्ष और काली सेना के प्रमुख स्वामी आनंद स्वरूप ने कहा कि कांग्रेसका चेहरा हमेशा से ही धर्म विरोधी रहा है चाहे उत्तर हो चाहे दक्षिण आज कांग्रेस अपने इसी एजेंडे के चलते गर्त में जा रही है उन्होंने कहा कि अगर किसी संत के खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज होता है तो उनकी जड़ें उखाड़ दी जाएंगी साथ ही उन्होंने कहा कि अगर संत की अपने धर्म की रक्षा की बात नहीं करेंगे तो कौन करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue Reading