हजरत शाह मौहम्मद काठा पीर के उर्स में ठेके की बोली सम्पन्न अश्लीलता फैलाने वालों पर होगी कार्रवाई प्रशासक गोपाल राम बिनवाल

लक्सर! हजरत शाह मौहम्मद काठा पीर की दरगाह पथरी जंगल में स्थित है। जहां प्रतिवर्ष लगने वाले सालाना उर्स में हजारों की तादाद में देश प्रदेश से हिंदू मुस्लिम ज़ायरीन काठा पीर पर हाज़री देने पहुंचते हैं। काठा पीर की दरगाह में जियारत करने वाले जायरीन गुड़ की भेली मजार पर चढ़ाते हैं। जहां ज़ायरीन अपनी हैसियत के हिसाब से नज़राना चढ़ाते हैं और नज़राना रकम पेश करते हैं।मेला प्रशासक के रूप में नियुक्त उपजिलाधिकारी लक्सर गोपाल राम बिनवाल तथा प्रशासन के अधिकारियों व दर्जनों ठेकेदारों की मौजूदगी में मेला सम्पन्न कराने के लिए उच्चतम बोली दाता को ठेका दिया गया है। आज तहसील परिसर के सभागार में काठा पीर बाबा के सालाना उर्स के लिए ठेकेदारों द्वारा बोली लगाई गई!

इस बार सबसे अधिकतम मेले की बोली ठेकेदार वारिस अहमद ने 60 लाख पचास हजार रुपए की बोली लगाई पूर्व में तहसील परिसर में वक्फ बोर्ड प्रशासक गोपाल राम बिनवाल .की अध्यक्षता में मेले मेंअन्य ठेको की उच्च्तम बोली के आधार पर क्रमशःविधुत जनरेटर आदि का ठेका अहसान पुत्र बशीर निवासी ज्वालापुर टेन्ट मो सालिब पुत्र अशरफ निवासी सुल्तानपुर नल कुए की मरम्मत समीर पुत्र रईस अहमद निवासी बसेड़ी खादर लंगर भोजन आदि नदीम पुत्र मेहताब निवासी बसेड़ी खादर पेन्ट पुताई खुर्शीद आलम पुत्र शमशाद निवासी बसेड़ी खादर के नाम रहा।प्रशासन द्वारा ठेके की शर्तों में मेहँदी डोरी की रस्म अदायगी को सम्पन्न कराने की सारी व्यवस्था मेला ठेकेदारों की ही होगी।

वही उत्तराखंड वक्फ बोर्ड द्वारा तैनात प्रशासक उपजिलाधिकारी गोपाल राम बिनवाल द्वारा ठेकेदारों को कड़े शब्दों में निर्देशित किया गया है कि मेले के किसी भी कार्य मे गुणवत्ता की कमी पाये जाने पर ठेकेदार के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।प्रशासक गोपाल राम बिनवाल द्वारा हमारे संवाददाता को जानकारी देते हुए बताया कि काठा पीर के सालाना उर्स की तैयारी पूरी कर ली गई है काठा पीर बाबा की मजार पर हिंदू और मुस्लिम बड़ी तादाद में आते हैं इसलिए इस वर्ष सुरक्षा के इंतजाम को देखते हुए पीएसी की एक बटालियन उर्स में तैनात रहेगी!

साथ ही साथ उर्स में तीसरी आंखें यानी कैमरों की व्यवस्था भी चप्पे-चप्पे पर रहेगी जिससे कि मेले में आने वाले जायरीनओं को किसी भी तरीके की कोई परेशानी ना हो अतिक्रमण के सवाल का जवाब देते हुए प्रशासक गोपाल राम बिनवाल ने कहा कि इस बार मजार शरीफ के चारो तरफ दुकाने नहीं लगाई जाएंगी क्योंकि भीड़ अधिक होने की वजह से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है इस बार मेले में पीर बाबा की मजार की चारों तरफ किसी भी प्रकार की कोई दुकान नहीं लगाई जाएगी अगर कोई दुकानदार दुकान लगाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी प्रशासक गोपाल राम बिनवाल ने कहा कि मेले में कोई भी अश्लील प्रोग्राम आयोजित नहीं किया जाएगा किसी भी प्रकार का वैरायटी शो या डांस पार्टी प्रोग्राम किसी भी कीमत पर मेले में आयोजित नहीं होगा अगर कोई भी ठेकेदार द्वारा अश्लीलता फैलाने की कोशिश की जाएगी तो ठेकेदार के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी वहीं दूसरी ओर मेला ठेकेदार वारिस अहमद ने जानकारी देते हुए बताया कि इस बार का मेला पिछली बार से भी सुंदर और आकर्षक रहेगा मेले में मनोरंजन के साधन सर्कस मौत का कुआं और अनेक प्रकार के झूले रहेंगे जिससे मेले में आने वाले जायरीन बाबा की मजार पर प्रसाद चढ़ाने के बाद झूलों का आनंद भी ले सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue Reading