uttarkashi news उत्तरकाशी हर घर नल हर घर जल योजना के अंतिम चरण में रुकावट, ठेकेदार और मजदूरों को पुलिस की सुरक्षा की मांग

uttarkashi

संवाददाता ठाकुर सुरेंद्र पाल सिंह (उत्तरकाशी)

उत्तरकाशी: ग्राम पंचायत डांग में ‘हर घर नल हर घर जल योजना’ के अंतिम चरण में आई बाधा को लेकर ग्राम प्रधान रोशन लाल सहित ग्रामीणों ने आज जिला प्रशासन से संबंधित ठेकेदार, उनके प्रतिनिधि और मजदूरों को तत्काल पुलिस सुरक्षा बल और प्रशासनिक सुरक्षा की मांग की है। इसके पीछे कारण बताया गया है कि कुछ पोखरी गांव के ग्रामीणों ने राजकीय कार्य में प्रयुक्त पेयजल पाइपों और पाइपलाइन को क्षतिग्रस्त करके योजना को अवैध रूप से रोक दिया है।

 

जिलाधिकारी उत्तरकाशी ने पहले ही उपजिलाधिकारी भटवाड़ी, उत्तरकाशी और अधिशासी अभियंता, जल संस्थान, उत्तरकाशी को संबंधित ठेकेदार को उचित सुरक्षा बल उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद, अभी तक पुलिस सुरक्षा बल उपलब्ध नहीं करवाने के कारण ही यह कार्य अधूरा रह गया है।

सहायक रिटर्निंग ऑफिसर ने भी पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है। अब उम्मीद की जा रही है कि इस मामले में जल्द ही कार्रवाई होगी और योजना का कार्य पूरा हो पाएगा।

यह भी पढ़े:स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने छत्रपति शिवाजी महाराज को अर्पित की श्रद्धांजलि 

इस योजना के तहत ग्राम पंचायत डांग के लिए नये बने पेयजल टैंक हेतु पाइपलाइन का निर्माण किया जा रहा था। योजना का कार्य अंतिम चरण में है और पाइप बिछाने हेतु अब कुछ सौ मीटर की दूरी ही शेष रह गयी है।

 

इस घटना के बाद से ग्रामीणों में आक्रोश है और वे चुनाव का बहिष्कार करने की बात कर रहे हैं। उनका कहना है कि अगर इस कार्य को 19 अप्रैल 2024, मतदान की तिथि से पहले पूरा नहीं किया गया तो वे मतदान में भाग नहीं लेंगे।

ग्रामीणों का आरोप है कि प्रशासन ने उनकी समस्या को हल करने के बजाय उन्हें अनदेखा कर दिया है। उन्होंने कहा कि यदि उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया गया, तो वे चुनाव का बहिष्कार करने की धमकी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें अपने अधिकारों के लिए संघर्ष करना पड़ेगा और वे इसके लिए तैयार हैं।

 

इसके अलावा, ग्राम पंचायत डांग के प्रधान रोशन लाल ने कहा कि उन्होंने प्रशासन से बार-बार मांग की है कि योजना के अंतिम चरण को पूरा करने के लिए पुलिस सुरक्षा बल उपलब्ध कराया जाए, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि यदि प्रशासन ने उनकी मांगों को नजरअंदाज किया, तो वे अपने अधिकारों के लिए लड़ने के लिए मजबूर होंगे।

 

इस घटना के बाद, ग्रामीणों में आक्रोश और निराशा की भावना फैल गई है। वे अब अपने अधिकारों के लिए संघर्ष करने के लिए तैयार हैं और उम्मीद कर रहे हैं कि प्रशासन उनकी मांगों को सुनेगा और उन्हें न्याय दिलाएगा। वे चाहते हैं कि हर घर नल हर घर जल योजना का कार्य जल्द से जल्द पूरा हो और उन्हें स्वच्छ पानी की सुविधा मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover more from

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue Reading